दास्तान -ऐ – ज़िन्दगी

जिंदगी को कुछ इस क़दर मुख़्तलिफ़ करदिया… थोड़ा इसे दिया थोड़ा उसे दिया थोड़ा खुदा के नाम करदिया… थोड़ा जिहादो के डर से मुख मोड़ लिया… थोड़ा…… Read more “दास्तान -ऐ – ज़िन्दगी”